“मां की वर्षगांठ”

मेरे प्यारे दोस्तों,

आज अपनी मां के जन्मदिवस पर आप सबसे अपने मन के भाव सांझा कर रही हूं ।

आज का दिन है कुछ खास,
मां को शुभकामनाएं देने का कर रहीं हूं प्रयास।
करना थोड़ा मुश्किल है,
क्योंकि वो मां का दिल है ।
उसी ने तो जन्म दिया,
उसी ने तो सक्षम किया ।
उसको क्या दे पाऊंगी,
उसके बिना कहां जाऊंगी ।
जिसने पग पग पर दिया है साथ,
कैसे मनाऊं उसकी वर्षगांठ ।
उस मां के आगे मैं हूं बहुत छोटी,
जिसकी हर सांस मेरे लिए है होती ।
समझौते ना जाने कितने किए होंगे,
मेरे लिए कितनी बार अश्रु बहे होंगे ।
मैंने बहुत सताया होगा,
कई बार रुलाया होगा ।
फिर भी चट्टान सी खड़ी होगी,
संकटों से भी ना डरी होगी ।

पूरी करने मेरी हर आस,
मां ही नहीं पिता बन कर चली है साथ ।‌

मेरे लेख भी उससे है, मेरी कविताएं भी,
मेरे शब्दों की प्रेरणा भी ।
मेरे वजूद में उसका एहसास,
उसी की दुआ ने बनाया मुझे खास ।
मेरे संस्कार ,मेरा व्यवहार देन है उसी की,
मेरी कला भी धरोहर है उसी की ।
ऐसी जननी को दूं कुछ खास,
जिसका हो कोमल एहसास,
यही है उस ‘विजय’ की ‘ऋतु’ का प्रयास !!

Published by Beingcreative

A homemaker exploring herself!!

6 thoughts on ““मां की वर्षगांठ”

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: