” सपने “

क्या आप सपनों को सुन पाते हैं ?क्या वह आपको कुछ कह पाते हैं ?जाने मेरे सपनों से क्या नाते हैं ,वो मुझे बहुत कुछ कह जाते हैं ,होने वाला अनदेखा बता जाते हैं ,आने वाली परेशानी से चेता जाते हैं ,आने वाली खुशियों की झलक दिखला जाते हैं ,कहते हैं सपने सबको आते हैंContinue reading “” सपने “”

” Independent Women “

Today we Indian ladies are celebrating womenhood in form of Karwachauth and no other day would be more appropriate to give my opinion on the topic “Independent Women “. Women these days are progressing and trying to build a world that is soothing for their soul.They are excelling in almost every sector.They have grown toContinue reading “” Independent Women “”

” त्योहार “

त्योहार लाते हैं जीवन में बहार ,अपनों से मिलने के मौके बेशुमार ,दिल खोल कर जताते हैं सब अपना प्यार ,पर हाय यह महामारी की मार ,२०२० में पहले से रहे नहीं त्योहार । लोहड़ी तक तो सब ठीक था ,फिर हुआ करोना का वार ,टूट के बिखर गया सारा संसार ,होली गई बेरंगी ,Continue reading “” त्योहार “”

“आंसू “

खारे खारे से आंसू ,एक सशक्त सहारे आंसू ,काश तुम बोल पाते ,मन की गिरह खोल पाते ,यूं तो अविरल बहते जाते हो ,हर सुख – दुख में साथ निभाते हो ,किसी पर हुए अन्याय को सह ना पाते हो ,मन के कृंदन को तुम्ही तो दर्शाते हो ,पर कुछ कह क्यों ना पाते होContinue reading ““आंसू “”

” मां – बाप “

जिस बच्चे को दुनिया में लाने के लिएमां सौ दुख झेलती है ,वही मां आज किसी काम की नहीं ,जो बाप बच्चे की हर सुख – सुविधा के लिएअपनी हर खुशी का बलिदान देता है ,उसे ही दुनियादारी की समझ नहीं ,जिस छोटे बच्चे की तुतलाती भाषामां-बाप झट से समझ जाते थे ,आज वही बच्चाContinue reading “” मां – बाप “”