‘A small joy tag’

Hello Everyone, So recently, I got tagged in “Small joy tag” by a new friend Anjali . She is an awesome writer . Despite of being young she has depth in her writing and thoughts which is truly inspirational. You can follow her blog :anjaliutters.wordpress.com The Rules of this tag are: 1) Thank the bloggerContinue reading “‘A small joy tag’”

” कबाड़ी वाला “

कबाड़ी वाला , कबाड़िया या भंगार वाला आखिर होता कौन है ? कबाड़ी वाला वह व्यक्ति होता है जो घर का फालतू सामान जैसे कि रद्दी , खाली डब्बे , खाली बोतलें , बेकार गत्ते आदि खरीद कर उसके बदले पैसे देकर जाता है और हमारे घर को कबाड़ मुक्त करता है । सुबह –Continue reading “” कबाड़ी वाला “”

” Nominated for Vincent Ehindero blogging award “

Dear Anjali , Thank you so much for nominating me for Vincent Ehindero Blogger Award. This is my third WordPress writing award nomination.( One more similarity dear 😊). To everyone reading this, Anjali herself is a great blogger. She speaks about her experiences and is brave enough to do so .I am falling for herContinue reading “” Nominated for Vincent Ehindero blogging award “”

‘Nominated For Liebester Award ‘

I am Ritu jain . Hi Anushree Srivastava ,Thank you so much for nominating me for this award. Anushree you really write so well …..loved ur posts ….. Readers please do check Anushree’s blog:ashree2412blogspot.wordpress .com Rules for this award :- 1- Thanks the blogger who has nominated you and provide the link of their blog.Continue reading “‘Nominated For Liebester Award ‘”

“आभार “

जाने क्या मन में आया था,मैंने ब्लॉग बनाया था,मन थोड़ा घबराया था ,पहली बार जो हाथ आजमाया था ,आप सबके साथ ने हौसला दिया ,आप सब की पोस्ट पढ़कर,लिखने का जज्बा मिला ,बचपन के ख्वाब को साकार किया ,एक-एक करके 100 रीडर्स ने ,मेरे ब्लॉग को फॉलो किया ,बहुत आगे अभी जाना है ,औरों काContinue reading ““आभार “”

” सरकारी लिफाफा “

एक दिन आंगन में मेज सजाया ,कविता लिखने का मन था बनाया ,इतने में कोरियरवाला आया,एक बंद लिफाफा लाया,देख सरकार की मोहर ,हमारा तो भेजा चकराया , कलेजा हमारे मुंह को आया ,कोरियर बॉय ने हमें संभाला ,हाथ पकड़ सिग्नेचर करवाया ,बंद लिफाफा हमनें खोला ,पढ़ हमारा दिल था डोला ,लिखा था उसमें ,आकर मिलोContinue reading “” सरकारी लिफाफा “”

“समाज”

समाज क्या है ? मैं कहूंगी – जो समझ ना आए वह है समाज । आप सोचेंगे मैं ऐसा क्यों कह रही हूं ? क्या मैं सही नहीं हूं ? क्या आपको समाज समझ आता है ? क्या समाज की बातें समझ आती हैं ? ” हमारे जीवन का एक ही रोग , क्या कहेगाContinue reading ““समाज””