“धोखा “

बिन बाप की बेटी को,मां ने एक तोहफा दिया,तोहफे का नाम था पापा,मां के लिए बेटी खुश थी,कैसे कटती मां की अकेले जिंदगी,यह फैसला थोड़ा मुश्किल था ,पर बेटी को लेना पड़ा ।उसने सोचा ,जब छोटी थी तो पिता चल बसे ,शायद फिर से वही प्यार मिले ,उसने इस रिश्ते को सब कुछ दिया ,प्यारContinue reading ““धोखा “”

“DESIRE”

All the sufferings in this world are because of our feelings and heart’s desires . If we lead a simple and contented life with minimum resources the struggle will most likely come to an end .We have to acknowledge that happiness and serenity lies in very small gestures of kindness and support for the needyContinue reading ““DESIRE””

” नफरत को मिटाइए “

कविता में एक नया प्रयास कर रही हूं , आशा करती हूं आपको पसंद आएगा । जय श्री हमको चाहिए ,भाग्यश्री हमको चाहिए ,प्यार की जूही खिला ,नफरत को मिटाइए , नफरत को मिटाइए ।। पूजा हो यहां सभी की ,रेखा ना हो दुश्मनी की ,हीरा नहीं तो ,नीलम ही बन जाइए ,नफरत को मिटाइएContinue reading “” नफरत को मिटाइए “”

” मैं दुखी क्यों ? “

दुख क्या है ? जो वस्तु विशेष हमें अप्रिय लगे वह हमारे लिए दुख बन जाता है । आज प्रत्येक मनुष्य कहता है , मैं दुखी क्यों , भगवान ने मुझे दुख क्यों दिया है ? मैं ही मिला था भगवान को दुख देने के लिए ! जब मन विषाद से भर जाता है तोContinue reading “” मैं दुखी क्यों ? “”

Nominated for Real Neat Blog Award….

Hello and welcome to my FIRST Real NeatBlogging award. I am humbled of my community of bloggers and my loyal readers that they respects and thinks so highly of my creations. Thank you so much!!! I am very happy and excited being nominated for the Real Neat Blog Award. I would sincerely like to thankContinue reading “Nominated for Real Neat Blog Award….”

“दक्षिण भारत”

प्यारे दोस्तों आज मैं आपको अपने एक और पहलू से रूबरू कराना चाहूंगी मुझे नाटक लिखना और उसका मंचन करना अति प्रिय है। आज आपके समक्ष प्रस्तुत है एक नाटक , आशा करती हूं मेरे लेख और कविताओं की भांति ही आपको यह पसंद आएगा। इस नाटक के द्वारा मैं किसी की धार्मिक भावनाओं कोContinue reading ““दक्षिण भारत””