” आस “

क्या है आस ?अपनों से अपनत्व का विश्वासही जगाता है मन में आस । दोस्त से दोस्ती निभाने की आस ,पति पत्नी में प्रेम की आस ,माता-पिता से विश्वास की आस ,ससुराल पक्ष में सम्मान की आस ,अनकहे रिश्तो में एक मिठास की आस ,वैचारिक मतभेद होते हुए भी समझने की आस ,भारत भूमि केContinue reading “” आस “”